सीनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता-2020, अकादमी के घुड़सवार फराज खान ने मध्य प्रदेश को दिलाए दो स्वर्ण पदक

संचालनालय खेल और युवा कल्याण, म.प्र.
तात्या टोपे राज्य खेल परिसर, भोपाल
समाचार
सीनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता-2020
अकादमी के घुड़सवार फराज खान ने मध्य प्रदेश को दिलाए दो स्वर्ण पदक
हार्लीकेन अश्व पर प्रदर्शन कर जीते पदक-खेल संचालक की बधाई

भोपाल: 11 मार्च, 2020

मध्य प्रदेश राज्य घुड़सवारी अकादमी के खिलाड़ी फराज खान ने 2 से 15 मार्च, 2020 तक मेरठ उत्तर प्रदेश में खेली जा रही सीनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता में दो स्वर्ण पदक अर्जित कर मध्य प्रदेश को गौरवान्वित किया है। फराज ने यह पदक नोवाइस क्राॅस कन्ट्री और प्री-नोवाइस क्राॅस कन्ट्री इवेन्ट में हार्लीकेन अश्व पर प्रदर्शन करते हुए मध्य प्रदेश को दिलाए। राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता की खास बात यह रही कि फराज खान ने एशियन गेम्स के पदक विजेता खिलाड़ियों को पीछे छोड़ते हुए यह स्वर्ण पदक जीते। उन्हें मेजर जनरल अनिल राणा द्वारा मैडल प्रदान कर सम्मानित किया गया। फराज खान द्वारा अर्जित इस उपलब्धि पर संचालक खेल और युवा कल्याण श्री व्ही.के. सिंह ने प्रसन्नता व्यक्त की है और प्रतियोगिता में उनके प्रदर्शन की सराहना करते हुए उन्हें बधाई दी है। मध्य प्रदेश घुड़सवारी अकादमी के मुख्य प्रशिक्षक केप्टन भागीरथ ने बताया कि सीनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता में अकादमी के खिलाड़ी आदर्श राठौर और आनंद झाला ने भी भाग लेकर प्रदर्शन किया लेकिन यह दोनों खिलाड़ी शीर्ष स्थान तक पहुंचने में कामयाब नहीं हो सकें। उन्होंने बताया कि फराज खान ने सबसे कम 25.1 पैनाल्टी लेकर शीर्ष स्थान हासिल किया। एशियन गेम्स के लिए तैयार किए जाने वाले रोड़मैप और नवम्बर-दिसम्बर-2020 में होने वाले ट्रायल से पहले सीनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता में फराज खान का यह सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है जिसने उनकी सफलता का मार्ग प्रशस्त किया है। फराज ने अब तक अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में 07 पदक देश को दिलाये है जिनमें तीन स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य पदक शामिल हैं। इसी तरह फराज खान ने राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में 22 और हार्स शो में 98 पदक अर्जित किए हैं।

 

समा. क्र.52

———–

महेन्द्र व्यास,
जनसम्पर्क अधिकारी

सीनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता-2020, अकादमी के घुड़सवार फराज खान ने मध्य प्रदेश को दिलाए दो स्वर्ण पदक
Scroll to top