पदक विजेता खिलाड़ियों की आर्थिक स्थिति में बदलाव लाना सरकार की प्राथमिकता-खेलमंत्री श्री पटवारी, 13वें साउथ एशियन गेम्स-2019, ताईक्वांडो अकादमी की खिलाड़ी लतिका भंडारी ने देश को दिलाया स्वर्ण पदक, गुरूनानक देवजी संभाग स्तरीय प्रांतीय ओलम्पिक में भोपाल बना ओवरऑल चैम्पियन

संचालनालय खेल और युवा कल्याण, म.प्र.
तात्या टोपे राज्य खेल परिसर, भोपाल
समाचार
पदक विजेता खिलाड़ियों की आर्थिक स्थिति में बदलाव लाना सरकार की प्राथमिकता
खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री पटवारी ने दी उपलब्धियों की जानकारी

भोपाल: 4 दिसम्बर, 2019

खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा है कि प्रदेश के पदक विजेता खिलाड़ियों की आर्थिक स्थिति में बदलाव लाना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा है कि हम मध्यप्रदेश को देश का खेल हब बनाने की हर संभव कोशिश कर रहे हैं। प्रदेश में खेल प्रतिभाओं को बढ़ावा देने के लिए जल्द ही नई खेल नीति लाई जाएगी । इसके साथ ही खेलों का महत्व बढ़ाने के लिए स्पोर्ट्स कोर्स भी कम्पलसरी होंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश की खेल प्रोत्साहन योजनाओं की केन्द्रीय खेल मंत्री श्री किरण रिजिजू ने सराहना की है। उन्होंने कहा कि अगले सत्र से खिलाड़ियों एवं प्रशिक्षिकों का चयन ऑनलाइन किया जाएगा।

खिलाड़ियों के लिये चिकित्सा एवं दुर्घटना बीमा

खेल मंत्री श्री जीतू पटवारी जानकारी दी कि प्रदेश के खिलाड़ियों को अब चिकित्सा एवं दुर्घटना बीमा का लाभ मिलेगा। मध्यप्रदेश खिलाड़ियों का बीमा कराने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में विभिन्न खेल अकादमियों के लगभग 822 खिलाड़ियों को इसका लाभ दिया जा रहा है। चिकित्सा बीमा के अन्तर्गत खिलाड़ी देश के चुनिन्दा अस्पतालों में से किसी भी अस्पताल में अपना ईलाज करवा सकते हैं। इसके लिये उन्हें 2 लाख रुपये तक निरूशुल्क उपचार की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। खिलाड़ियों का 5 लाख रुपये का जीवन बीमा भी कराया गया है। इसके साथ ही आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के खिलाड़ियों के अभिभावकों को भी जीवन बीमा में शामिल किया गया है।

श्री पटवारी ने जानकारी दी कि बीमा के माध्यम से खिलाड़ियों को पूरे देश में कैशलेस उपचार की सुविधा उपलब्ध रहेगी। प्रदेश के ऐसे खिलाड़ी जो अधिकृत रूप से राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में प्रतिभागिता कर रहे हैं, उन्हें भी चिकित्सा एवं दुर्घटना बीमा की कैशलेस सुविधा उपलब्ध कराने की प्रक्रिया जारी है। इसके लिये संबंधित खेल संघ को राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी की प्रमाणित सूची उपलब्ध करानी होगी। परीक्षण के बाद खिलाड़ी का पंजीयन कर यह सुविधा उसे उपलब्ध कराई जाएगी।

शासकीय नौकरी में खिलाड़ियों को 5 प्रतिशत आरक्षण

खेल एवं युवा कल्याण मंत्री ने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर लगातार पदक हासिल करने के बाद भी खिलाड़ियों को नौकरी से वंचित रहना पड़ता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की मंशानुसार नई खेल नीति में यह व्यवस्था की जा रही है कि शासकीय नौकरी में खिलाड़ियों को 5 प्रतिशत आरक्षण का लाभ मिल सके।

प्रोत्साहन राशि में कई गुना वृद्धि

मंत्री श्री पटवारी ने कहा कि प्रतिभावान खिलाड़ियों और खेल संघों के अनुदान और पुरस्कार की राशि में कई गुना वृद्धि की गई है। राष्ट्रीय स्तर पर पदक विजेता खिलाड़ी को मिलने वाली 5000 रूपये की राशि को बढ़ाकर एक लाख रुपये किये जाने का प्रस्ताव है। पूर्व में राज्य स्तरीय आयोजन के लिये 50 हजार रुपये की अनुदान राशि दी जाती थी, जिसे बढ़ाकर 2 लाख रुपये और राष्ट्रीय स्तर पर दी जाने वाली 2 लाख रुपये की अनुदान राशि को बढ़ाकर 10 लाख रुपये कर दिया गया है।

प्रमुख उपलब्धियाँ

महिला खिलाड़ियों की सुरक्षा के मद्देनजर खेल प्रतिस्पर्धाओं में भाग लेने के लिये महिला खिलाड़ियों के साथ महिला क्रीडा अधिकारी का जाना अनिवार्य होगा।
मध्यप्रदेश में विश्व स्तरीय खेल विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी।

ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को अवसर प्रदान करने के लिये विकासखण्ड, जिला एवं संभागीय स्तर पर गुरूनानक देव प्रांतीय ऑलम्पिक खेल प्रतियोगिताएं प्रारंभ की गई है। अब स्कूली स्तर पर भी अण्डर-16 प्रांतीय ऑलम्पिक शुरू किया जाएगा। अगले वर्ष से प्रांतीय ऑलम्पिक में ट्राफी के साथ प्रोत्साहन राशि का प्रावधान भी किया जाएगा।
इंदौर में स्वीमिंग पूल, छिन्दवाड़ा में फुटबाल और नरसिंहपुर में वॉलीबाल अकादमी की स्थापना की जाएगी।

पीपीपी मोड से खेल अधोसंरचना का निर्माण होगा। पायलट प्रोजेक्ट के तहत इंदौर में स्पोर्ट्स काम्पलेक्स बनाये जाने का प्रस्ताव है। इसकी सफलता के बाद भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर और उज्जैन में स्पोर्टस इन्फ्रास्ट्रक्चर स्थापित किया जाएगा।

ब्यावरा, राजगढ़, खिलचीपुर, सारंगपुर, नरसिंहपुर, विदिशा, शिवपुरी, पोहरी, कोलारस, अशोकनगर, पवई में इंडोर हाल निर्माणाधीन है।

छिन्दवाड़ा, आगर-मालवा, कालापीपल, नरसिंहपुर, होशंगाबाद, बैतूल, खरगौन, मंदसौर, मुरैना, गुना और दमोह में इंडोर हाल प्रस्तावित है।

टी.टी. नगर स्टेडियम में तीन मंजिला बहुउददे्शीय इंडोर हाल का निर्माण कार्य जारी है।

टी.टी. नगर स्टेडियम में रॉक क्लाइबिंग वॉल का निर्माण प्रस्तावित है।

प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में विधायक खेल प्रोत्साहन योजना के तहत खेलों की आधारभूत अधोसंरचना और खेल गतिविधियों के प्रभावी संचालन के लिये क्षेत्रीय विधायक को प्रतिवर्ष 5 लाख रुपये व्यय करने का प्रावधान किया गया है। साथ ही, विधायक के लिये निर्धारित राशि को 50 हजार से बढ़ाकर एक लाख रुपये किया गया है।
प्रशिक्षकों के लिये कोच डेव्हलम्पमेंट प्रोग्राम प्रारंभ किया गया है।

रॉक क्लाइम्बिंग का दिया संदेश

खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने आज बरकतउल्ला विश्वविद्यालय परिसर में रॉक क्लाइबिंग कर श्खेलेगा मध्यप्रदेश-बढ़ेगा मध्यप्रदेशश् का संदेश दिया। उन्होंने पैरा तैराक श्री सतेन्द्र लोहिया को राष्ट्रीय पुरस्कर मिलने पर बधाई और शुभकामनाएँ दी। श्री पटवारी ने इण्डोनेशिया में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करने वाले फुटबाल खिलाड़ी श्री सुयश कनौजिया को सम्मानित किया। इस अवसर पर बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. आर.जे.राव और आयुक्त जनसम्पर्क श्री पी.नरहरि उपस्थित थे।

—————

समाचार
13वें साउथ एशियन गेम्स-2019
ताईक्वांडो अकादमी की खिलाड़ी लतिका भंडारी ने देश को दिलाया स्वर्ण पदक
लतिका ने किया देश को गौरवान्वित-खेल मंत्री श्री पटवारी

भोपालः 4 दिसम्बर, 2019

नेपाल के काठमांडू में 1 से 10 दिसम्बर, 2019 तक खेले जा रहे 13वें साउथ एशियन गेम्स में मध्य प्रदेश राज्य ताइक्वांडो अकादमी की खिलाड़ी लतिका भण्डारी ने-53 किलोग्राम भारवर्ग में देश को स्वर्ण पदक दिलाया। लतिका ने पाकिस्तान की खिलाड़ी अनेइला अंसारी को 40-10 अंको के अंतर से परास्त कर यह पदक अर्जित किया।
खेल और युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने लतिका भंडारी की इस उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उन्हें बधाई दी है। उन्होंने सेफ गेम्स में किए गए लतिका के शानदार प्रदर्शन की सराहना करते हुए कहा कि लतिका ने स्वर्ण पदक जीतकर देश और प्रदेश को गौरवान्वित किया है।

संचालक खेल और युवा कल्याण डाॅ. एस.एल. थाउसेन ने भी ताईक्वांडो अकादमी की प्रतिभावान खिलाड़ी लतिका भंडारी द्वारा अर्जित उपलब्धि पर हर्ष व्यक्त करते हुए उन्हें बधाई दी है।

—————–

गुरूनानक देवजी संभाग स्तरीय प्रांतीय ओलम्पिक में भोपाल बना ओवरऑल चैम्पियन

भोपालः 4 दिसम्बर, 2019

 

जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा तथा खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने आज टी.टी. नगर स्टेडियम में गुरूनानक देवजी प्रांतीय ओलम्पिक खेलों के अंतर्गत संभाग स्तरीय प्रतियोगिता का समापन किया। संभाग स्तरीय प्रांतीय ओलम्पिक प्रतियोगिता में भोपाल संभाग ओवरऑल चैम्पियन बना।

जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि इस तरह की प्रतियोगिताएँ ग्रामीण प्रतिभाओं को खोजने में सहायक होती हैं। उन्होंने कहा कि खेल हमें जीवन में सफल होने के गुर भी सिखाते हैं।

खेल मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि मध्यप्रदेश पहला राज्य है, जहाँ जूनियर और सीनियर प्रांतीय ओलम्पिक प्रतियोगिता शुरू की गई हैं। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष से स्कूली स्तर पर भी 16 वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए प्रांतीय ओलम्पिक खेल प्रतियोगिताएं शुरू की जाएंगी। श्री पटवारी ने कहा कि अगले वर्ष से खिलाड़ियों को प्रांतीय ओलम्पिक में ट्राफी के साथ प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की जाएगी।

 

इस अवसर पर मंत्रीद्वय ने विभिन्न खेलों के विजेताओं को ट्रॉफी प्रदान कर पुरस्कृत किया।

 

प्रदेश में बालक-बालिकाओं को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से इस वर्ष से गुरु नानक देव जी प्रांतीय ओलम्पिक खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है। संभाग स्तरीय प्रतियोगिताओं में पुरूष एवं महिला के लिए बास्केटबाल, हॉकी, खो-खो, कबड्डी और फुटबाल की प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। इसमें राजगढ़, सीहोर, भोपाल और विदिशा के लगभग 850 खिलाड़ियों ने भाग लिया।

 

आज के परिणाम
बास्केटबॉल पुरुष वर्ग
भोपाल विजेता
विदिशा उप विजेता
महिला वर्ग
भोपाल विजेता
विदिशा उप विजेता
हॉकी पुरुष वर्ग
भोपाल विजेता
विदिशा उप विजेता
महिला वर्ग
भोपाल विजेता
विदिशा उप विजेता
खो-खो पुरुष वर्ग
सीहोर विजेता
राजगढ़ उप विजेता
महिला वर्ग
सीहोर विजेता
विदिशा उप विजेता
कबड्डी पुरुष वर्ग
सीहोर विजेता
भोपाल उप विजेता
महिला वर्ग
भोपाल विजेता
विदिशा उप विजेता
फुटबॉल महिला वर्ग
सीहोर विजेता
भोपाल उप विजेता

————————

 

महेन्द्र व्यास,
जनसम्पर्क अधिकारी

पदक विजेता खिलाड़ियों की आर्थिक स्थिति में बदलाव लाना सरकार की प्राथमिकता-खेलमंत्री श्री पटवारी, 13वें साउथ एशियन गेम्स-2019, ताईक्वांडो अकादमी की खिलाड़ी लतिका भंडारी ने देश को दिलाया स्वर्ण पदक, गुरूनानक देवजी संभाग स्तरीय प्रांतीय ओलम्पिक में भोपाल बना ओवरऑल चैम्पियन
Scroll to top